Advertisements

छोटे बच्चों को सर्दी-जुकाम होने पर क्या करे ? – सर्दी-जुकाम ठीक करने के घरेलु उपाय

Advertisements

छोटे बच्चे बहुत ही नाजुक होते है। छोटे बच्चो को कोई भी infection तुरंत ही लग जाता है। और खास करके मौसम में बदलाव के कारण बच्चे सबसे ज्यादा बीमार होते है और ये वायरल इन्फेक्शन के कारण होता है। और ऐसे में नवजात शिशु को सर्दी जुकाम, बड़े बच्चो को और बड़ो को भी सर्दी-जुकाम और बुखार की बीमारी ज़्यदातर होती है। तो अगर आप भी चिंतित हो की छोटे बच्चों को सर्दी-जुकाम होने पर क्या करे और क्या है सर्दी-जुकाम ठीक करने के घरेलु उपाय तो आपको इस आर्टिकल से सारी जानकारी मिल जाएगी। 


 
छोटे बच्चों को सर्दी जुकाम
 
कई शिशु में ठंड की वजह से भी सर्दी-जुकाम की बीमारी होती है तो कई शिशु में दांत आने की वजह से भी सर्दी हो जाती है और बाद में बच्चो को कफ की समस्या हो जाती है और parents इस बात को जब समझते है तब तक ये बीमारी बड़ा रूप ले लेती है। 
 
इस लिए अगर आपके बच्चे को सर्दी-जुकाम लग रहा है तो उनका तुरंत ही उपचार करे। आइये हम सबसे पहले ये जानते है की क्या है बच्चे में सर्दी-जुकाम होने के कारण?
 
 

बच्चों को सर्दी-जुकाम होने कारण – cause of cold in babies

 
सर्दी-जुकाम होने का सबसे बड़ा कारण वायरस है। वायरस जल्दी से  संक्रमित होता है। इस लिए किसी सर्दी-जुकाम वाले व्यक्ति के सम्पर्क में आने से आपको सर्दी-जुकाम की बीमारी हो सकती है। 
 
बच्चो की रोगप्रतिकारक शक्ति adult के मुकाबले कम होती है इस लिए बच्चे जल्द ही सर्दी-जुकाम से संक्रमित होते है। और छोटे बच्चे को हर मौसम के बदलाव के साथ साथ ये सर्दी-जुकाम की बीमारी होती ही है। 
 
इसके अलावा बच्चो में सर्दी-जुकाम राइनोवायरस के कारण भी होता है। वायरस नाक के द्वारा या किसी संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने से फैलता है और गंदे हाथ मुँह पे लगने से भी आपको सर्दी-जुकाम की बीमारी होती है। 

बच्चो में सर्दी-जुकाम के लक्षण – symptoms of cold in babies  

 
अगर आपके बच्चे को सर्दी-जुकाम और बुखार लग रहा है तो आप निचे दिए गए लक्षण से पहचान सकते है। 
 
बच्चो में सर्दी-जुकाम के लक्षण

 

– नाक बंध होना 
 
– नाक बहना 
 
– गले  में खराश 
 
– सायनस पर दबाव लगना 
 
–  smell ना आना 
 
– बार बार छींक आना
 
– सिर दर्द होना 
 
– आँखों से पानी बहना 
 
– ख़ासी आना 
 
– फेफड़े में साँस का दबाव 
 
– ठंड महसूस होना 
 
– आवाज भारी होना 
 
– शरीर में दर्द होना 
 
– हलका सा बुखार आना 
 
 

बच्चो की सर्दी-जुकाम और बुखार ठीक करने के घरेलु उपाय – Home Remedy For Cold In Babies 

 
अगर आपके बच्चे को सामान्य सर्दी-जुकाम लग रहा है तो आपको उसे डॉक्टर के पास ले जाने की जरुरत नहीं है। अगर बच्चे को १ हप्ते के बाद भी कुछ फर्क न लगे तो आप डॉक्टर को consult कर सकते हो क्युकी सर्दी-जुकाम को ठीक होने में कम से कम 6-7 दिन तो लगते ही है। 
 
अगर आप ये सोच रहे हो की बच्चों को सर्दी-जुकाम में क्या देना चाहिए तो आप अपने घर के kitchen में रखी हुई चीजों का इस्तमाल करके बिना खर्च और side effect से बच्चे के सर्दी-जुकाम को आसानी से ठीक कर सकते है। आप इन्हे छोटे बच्चों की सर्दी-जुकाम की दवा या बच्चों की सर्दी-जुकाम की दवा भी कह सकते हो। 
 
बुखार की सबसे अच्छी दवा घरेलू

 

Advertisements
1. नींबू और शहद 
 
छोटे बच्चो को या बड़े बच्चो को भी अगर सर्दी-जुकाम लग रहा है तो आप उन्हें 1 चम्मच नींबू के रस में 3 चम्मच शहद मिलाकर थोड़ी थोड़ी देर में चटाइये। ये जमे हुए बलगम को ढीला करेगा। 
 
2. अदरख, शहद और तुलसी पान 
 
आप बच्चे को अदरख, शहद और तुलसी के पत्ते का रस निकाल के तीनो का मिश्रण भी बच्चे को दे सकते है इस से भी बच्चे को सर्दी-जुकाम में राहत मिलेगी। 
 
3. सुप पिलाइये 
 
अगर आप नॉनवेज खाते है तो आप बच्चे को चिकन सुप भी पीला सकते हो। ये भी सर्दी-जुकाम में फायदेमंद रहता है। 
 
4. Baby rub का इस्तमाल करे 
 
अगर आपके बच्चे को सर्दी-जुकाम और कफ हुआ है तो आप हररोज दिन में 2 बार बच्चे को baby rub लगा सकते है। आप बच्चे के हथेली, नाख़ून, छाती, पेरो के तले पे बाम लगाइये। इस से सर्दी-जुकाम में फायदा मिलेगा। 
 
5. नारियल तेल का इस्तमाल
 
सर्दी के मौसम में नारियल तेल में कपूर मिलाकर हल्का सा गरम करे और हथेली में लेकर हलके हाथो से बच्चे की छाती पर मालिश करे। 
 
6. भाप ले 
 
अगर बच्चा 2 साल से बड़ा है तो गरम पानी में अजवाइन और लोंग डाल कर उबाले और उस पानी से बच्चे को भाप दे। 
 
– बच्चो को अदरख वाली चाय भी पीला सकते हो। 
 
– बच्चो को सोने से पहले 1 कप पानी में हल्दी डाल कर उबाल के पीला सकते हो। 
 
– बच्चो को रोज उठाने के बाद तुलसी के पत्ते चबाने दीजिये इस से भी उनको सर्दी-जुकाम में राहत मिलेगी। 
 

बच्चो को सर्दी-जुकाम से बचाने के उपाय – Prevention For Cold In Babies 

 
अगर आपके बच्चे को या बड़े को भी अगर ऐसा लगता है की उनको सर्दी-जुकाम होने वाला है तो निचे दी गई बातो का ध्यान रखे तो आप सर्दी-जुकाम से बच सकते है। 
 
बच्चो को सर्दी-जुकाम से बचाने के उपाय

 

 
1. सर्दी-जुकाम में डेरी प्रोडक्ट्स नहीं खाना चाहिए क्युकी ये बलगम को गाढ़ा करता है और सर्दी-जुकाम होने की और बढ़ने की संभावना बढ़ जाती है। और अगर सर्दी-जुकाम हुआ है तो इन चीजों को खाने से आपको recovery होने में समय लगता है। 
 
2. तेल से भरपूर चीजों को avoid करे। तेल में तली हुई चीजे खाने से पाचनशक्ति कमजोर होती है और आपके रोग को बढ़ावा देती है। 
 
3. प्रोसेस्ड फ़ूड या फ़ास्ट फ़ूड को भी आप avoid करिये क्युकी इन फूड्स में बिलकुल भी पोषकतत्व नहीं होते है। और आपके स्वास्थ्य को भी नुकशान करते है। 
 
4. जितना हो सके उतना आराम करे और अच्छी नींद ले इस से आपकी एनर्जी बर्बाद नहीं होगी और आपकी रोगप्रतिकारक क्षमता मजबूत होती है। 
 
5. बच्चो को ठंडी के मौसम में छोटे कपडे ना पहनाये और ठंडे पानी से ना नहेलाये। 
 
6. बच्चो को सर्दी-जुकाम में हमेशा गुनगुना पानी पिने को दे। 
 
7. बहार की चीजे और ठंडी चीजे खाने को ना दे। 
 
8. ठंडी के मौसम में बच्चो को और बड़ो को सुप पिने दे। 
 
9. ठंडी में सर्दी-जुकाम से बचने के लिए सोडा, आइसक्रीम, सरबत इन सब चीजों का सेवन ना करे। 
 
10. बच्चो को संक्रमण से बचाने के लिए संक्रमित लोगो से दूर रखना चाहिए। 
 
11. अगर घर में किसी को भी सर्दी-जुकाम हुआ है तो वो बार बार अपने हाथ धोये और उसके बाद ही वो बच्चे को छुए। 
 
12. सर्दी में मसालेदार खाना खाइये यानि की तीखा खाना क्युकी तीखा खाना बलगम को तोड़ देता है। और शरीर को भी गरम रखता है। 
 
13. अगर आपका शिशु नवजात शिशु है तो आप धूम्रपान करने से बचे या धूम्रपान करते व्यक्ति से दूर रहे क्युकी उसका धुआँ बच्चे के फेफड़े को नुकशान पहुँचता है और बच्चे की सर्दी-जुकाम की समस्या को भी बढ़ा सकता है। 
 
14. अगर आपका बच्चा 1 साल से छोटा है तो उनको स्तनपान करवाना सबसे अच्छा विकल्प है सर्दी-जुकाम को रोकने के लिए। क्युकी स्तनपान करने वाला बच्चा फार्मूला फीड (बोतल से दूध) पिने वाले बच्चे से अधिक तंदुरस्त रहता है। 1 साल से छोटे बच्चे को गाय का दूध बिलकुल ना दे क्युकी उस से बच्चे को कफ होने की संभावना रहती है। 
 
 

डॉक्टर के पास कब जाना चाहिए? – When Consult Doctor ?

 
अगर आप घर पे बच्चे को सर्दी-जुकाम से बचाने के सारे प्रयास कर चुके है फिर भी बच्चे को कोई फर्क नहीं लग रहा तब आप बच्चे को डॉक्टर से consult करे। 
 
अगर आपको इस इस तरह के लक्षण दिखते है तो आप डॉक्टर के पास जा सकते हो :
 
– बच्चे का सर्दी-जुकाम 5 दिन से ज्यादा हो। 
 
– बच्चे को बुखार 100.4 डिग्री से ज्यादा हो। 
 
– बच्चे को पीला या भूरा रंग का कफ हो। 
 
– बच्चे को खासी 5 दिन से ज्यादा दिन तक आ रही हो। 
 
– बच्चा अपना कान खीचता या खुजलाता हो और बच्चा चिड़चिड़ा हो गया हो तो। 
 
– बच्चे को साँस लेने में तकलीफ होती है तो। 
 
तो ये थी पूरी जानकारी की छोटे बच्चों को सर्दी-जुकाम होने पर क्या करे, सर्दी-जुकाम ठीक करने के घरेलु उपाय और बच्चों को सर्दी-जुकाम में क्या देना चाहिए के बारे में। उम्मीद है की आपको लाभदायी  जानकारी मिली होगी। 
 
Happy Parenting.
यह पढ़े :
 
 
 

Advertisements

Leave a Comment