Advertisements

क्या है शिशु के दांत निकलते समय होने वाले उल्टी दस्त को रोकने के उपाय – जानिए

Advertisements

बच्चा (shishu) जब जन्म लेता है तब से जैसे जैसे वो बड़ा होता जाता है उनके शरीर में बदलाव होते रहते है उनके अंगो का विकास हो रहा होता है। बच्चे जन्म होता है तो उनके दांत नहीं होते है पर बच्चा करीबन 4-6 महीने का होता है तब उनके दांत आने की शुरुआत होती है। कई बच्चो में दांत आना 9 महीने के बाद भी शुरू होते है। शिशु के जब दांत निकलने वाले होते है उनके पहले ही शिशु के दांत में दर्द और उल्टी दस्त (diarrhea in hindi) जैसे लक्षण दिखने लगते है। तो इस आर्टिकल में आपको शिशु के दांत निकलते समय होने वाले उल्टी दस्त को रोकने के उपाय बताये गए है जो आपकी parenting journey को आसान बना देंगे।

बच्चे को हर बार दांत निकलने से पहले कई सारे लक्षण दिखाई देते है जैसेकी, मसूड़े फूल जाना, दस्त (बार बार पॉटी), उल्टी, बच्चे को सर्दी-खासी, जुकाम, मुँह से लार टपकना, बच्चे का स्तनपान या दूध पीना, रोते रहना, चिड़चिड़ा हो जाना विगेरे।


शिशु के दांत निकलते समय होने वाले उल्टी दस्त को रोकने के उपाय


Advertisements

छोटे बच्चो में दांत निकलना आम बात है पर बच्चो में दांत निकलते time पे सावधानी और ध्यान रखना parents का काम होता है। अगर आपका बच्चा 4 महीने से ऊपर का हो चूका है और बच्चे को उल्टी, दस्त या रात में रोना, सही से स्तनपान (feeding) ना करना और चिड़चिड़ा हो जाना जैसे कोई भी लक्षण दिख रहे है तो हो सकता है की उनको दांत आने की वजह से यह तकलीफे हो रही हो। शिशु को दांत आने के समय पर कई बार बुखार भी आ जाता है।


    शिशु को दांत निकलते समय उल्टी दस्त क्यों होता है ? – diarrhea in hindi

    दरसल शिशु को जब दांत निकलने के होते है उसके पहले उनके मसूड़ों में बदलाव होता है यानि की उनके मसूड़ों को चीरकर दांत बहार आते है। उस वक्त शिशु को मसूड़ों में दर्द और खुजली होती है जिनके कारण शिशु अपने आसपास की कोई भी चीजे और बच्चो के खिलौने अपने मुँह में डाल देते है और इन सारी चीजों में कीटाणु (bacteria) लगे होते है और वो कीटाणु बच्चे के मुँह के द्वारा पेट में चले जाते है जिनके कारण बच्चो को infection हो जाता है और बच्चे दांत निकलते समय बीमार हो जाते है यानि की बच्चो को दस्त-उल्टी जैसी बीमारी हो जाती है। इसके अलावा बच्चो के शरीर में कुछ शरीरिक बदलाव होते है जिनके कारण भी बच्चे बीमार हो जाते है।


    क्या है शिशु के दांत निकलते समय होने वाले उल्टी दस्त को रोकने के उपाय


    पानी की कमी ना होने दे

    अगर आपके शिशु को दांत निकलने की वजह से उल्टी दस्त हो गया है तो उनके शरीर में पानी की कमी हो जाती है क्युकी सारा पानी उल्टी और दस्त (diarrhea in hindi) में निकल जायेगा और बच्चा dihydrate (शरीर में पानी की कमी) हो जायेगा। इस लिए आप अपने बच्चे को थोड़ी थोड़ी देर में पानी या फ्रूट जूस पिलाइये।

    स्तनपान करवाइये

    शिशु को स्तनपान करवाने से उनकी immune system strong होती है इस से शिशु को बीमारी से लड़ने की ताकत मिलेगी और शिशु के शरीर में से पानी की कमी भी पूरी होगी। इस लिए अगर आपका शिशु 1 साल से छोटा है तो उन्हें स्तनपान (breastfeed) अवश्य करवाइये।

    ओआरएस का घोल पिलाइये

    अगर बच्चा 6 महीने से कम उम्र का है। मान लीजिये अगर (2 महीने के बच्चे को दस्त हुआ है तो दस्त होने पर क्या करें) तो उसे ओ.आर.एस. का घोल पिलाइये। इसे आप घर पर भी बना सकते हैं 1 लीटर पानी को उबालके ठंडा कर दे फिर उसमे 5-6 चमच चीनी और आधा चमच नमक दाल कर अच्छी तरह से हिलाइये जब तक दोनों पिगल न जाये। फिर उस पानी को बच्चे को थोड़े थोड़े समय पर दे।

    ठोस आहार दे 

    अगर आपका शिशु 6 महीने से अधिक उम्र का है तो उन्हें केला खिलाइये क्युकी केले में potassium, magnesium, fiber, zinc, vitamin B, vitamin A होता है जो बच्चो को दस्त से होने वाली कमजोरी को दूर करता है। इसके अलावा आप शिशु को सुप भी पीला सकते हो। उल्टी और दस्त के समय पर बच्चो को हरी सब्जिओ से दूर रखे।

    ग्राइप वाटर

    शिशु के दांत निकलते समय होने वाले उल्टी दस्त को रोकने के लिए आप उन्हें ग्राइप वाटर दे सकते हो पर आप एक बार डॉक्टर से कंसल्ट कर ले और यह जाँच करले की आप जो gripe water baby को दे रहे हो वो organic हो। हलाकि ग्राइप वाटर शिशु की health को कोई नुकशान नहीं करता है।

    घसारा पिलाइये

    आप बच्चो को जायफल और सेहद का घसारा भी पीला सकते है इस से भी बच्चे को दस्त में रहत होगी। यह नुश्खा दादी-नानी बरसो से करती आयी है। और यह फायदेमंद होता है।

    शिशु की मालिश करिये 

    शिशु के पेट की मालिश करने से भी उनका पाचनतंत्र मजबूत होता है और उन्हें उल्टी दस्त से कई हद तक राहत मिलेगी।

     शिशु के आसपास सफाई रखे

    बच्चो के खिलौने और कमरे की सफाई का ध्यान रखे क्युकी अगर बच्चे के आसपास गंदगी होगी तो बच्चा संक्रमण से या किसी चीजों को मुँह में डालने से बीमार हो सकता है। इस लिए आप शिशु को संक्रमण से बचाये। सफाई के लिए आप disinfectant floor cleaner का इस्तमाल कर सकते हो जो बेबी फ्रेंडली हो।

    तो अगर आप भी अपने शिशु को दांत आने की वजह से होने वाले उल्टी दस्त से बचाना चाहते हो तो ऊपर दी गयी सावधानिया और उपाय करेंगे तो आप अपने शिशु को उल्टी दस्त से राहत दे सकोगे।

    उम्मीद है की आपको शिशु के दांत निकलते समय होने वाले उल्टी दस्त को रोकने के उपाय पसंद आये होंगे।

    Happy Parenting .

    यह भी पढ़े

    शिशु में कब्ज होने के लक्षण, कारण और उपाय

    बच्चों में कोरोना के लक्षण

    Advertisements

    Leave a Comment