Advertisements

What is baby shower in hindi – गोद भराई क्या है सम्पूर्ण जानकरी

Advertisements

Baby shower in Hindi और baby shower meaning in hindi का मतलब है गोद भराई .

गोद भराई क्या है? (godh bharai ki rasam) गोद भराई हमारे भारतीय संस्कृति की एक खास रस्म है जिसे आज भी कई सारे प्रान्तों में मनाई जाती है . हमारा भारत देश विभिन्न संस्कृति का देश है यहाँ पर हर कुछ गाँव के बाद बोली बदलती है वैसे ही हर प्रान्त में रस्मे भी बदलती रहती है . ऐसी बहुत सी परंपराये है जिनका सदीओ से पालन किया जा रहा है.

वैसे ही है गोद भराई की रस्म ! यह भारतीय संस्कृति के हिन्दू धर्म में 16 संस्कारो में से एक संस्कार है . जो होने वाली माँ और गर्भ में पल रहे शिशु के लिए की जाती है . इसे एक त्यौहार की तरह मनाया जाता है और यह भिन्न भिन्न क्षेत्रो में भिन्न भिन्न नाम से जानी जाती है .

What is baby shower in hindi - गोद भराई क्या है सम्पूर्ण जानकरी

इसे एक त्यौहार की तरह मनाया जाता है और देश के अलग-अलग हिस्सों में इसे विभिन्न नामों से जाना जाता है जैसे गुजरात में श्रीमत, केरल में ‘सीमंथाम’, बंगाल में इसे ‘शाद’, तमिलनाडु में ‘वलकप्पू’ और इंग्लिश में बेबी शावर (baby shower)

Advertisements

अभी के समय में गोद भराई (godh bharai) को बहुत ही modern अवतार में मनाया जाता है पर पहेले के लोग इनको बहुत ही परंपरिक तरीके से मनाते थे और बहुत से लोगो को तो गोद भराई क्या है उनके बारे में पता भी नहीं होता है . तो इस आर्टिकल के द्वारा आपको god bharai kya hai (godh bharai in hindi) यह बताने की कोशिश करेगे .

गोद भराई कब होती है – Baby shower in hindi

गोद भराई (baby shower) गर्भवस्था (प्रेगनेंसी) के 7 वे महीने के शुरू से 7 वे महीने के अंत तक कभी भी की जाती है . कोई कोई प्रान्त में यह रसम प्रेगनेंसी के 6 वे महीने और 8 वे महीने में भी करते है . यानि की गोद भराई की रसम 6 से 8 वे महीने के बिच में करी जाती है क्युकी यह समय शुभ माना जाता है .

कैसे करते हैं गोद भराई (How to do Baby Shower in Hindi)

हर जगह पर गोद भराई (Baby shower) के कार्यक्रम को मनाने का तरीका अलग अलग होता है पर उनका एक ही उदेश्य होता है की माँ और गर्भ में पल रहे शिशु को भगवान और वडीलो का आशीर्वाद मिले और माँ और बच्चा दोनों स्वस्थ और सुरक्षित रहे .

पारंपरिक तौर पर गोदभराई ( what is godh bharai in hindi ) के दिन पूजा रखवाई जाती है जिनमे सभी कुटुंबीजन और स्नेहिओ माँ और बच्चे के लिए प्रार्थना करते है . ताकि माँ एक स्वस्थ बच्चे को जन्म दे और सभी बलाओं से दूर रहे .

यह पूजा से माँ और गर्भ में पल रहे शिशु को सकारात्मक उर्जा मिलती है जिनसे उनका स्वाथ्य और बेहतर हो जाता है .

पहले के समय में सिर्फ औरते ही गोद भराई की रस्म (Baby shower) में शामिल होती थी लेकिन आज के समय में पुरुषे भी इस रस्म में शामिल होते है .

इस कार्यक्रम में होने वाली माँ को श्रृंगार करके चुनरी ओढाई जाती है, गहने पहनाये जाते है और फिर श्रीफल, मेवा-मिठाईओ से गर्भवती स्त्री की गोद भरी जाती है .

लेकिन आज के समय में यह गोद भराई की यह रस्म ( baby shower meaning in hindi ) अंतिम के महीनो में मनाई जाती है और उनके बाद गर्भवती स्त्री को आराम करने के लिए उनके माँ के घर पे भेज दिया जाता है .

गोद भराई की रस्म का महत्त्व

जैसे की आपको पता चल गया होगा की गोद भराई हमारी भारतीय संस्कृति का एक संस्कार है जिसको हम 7 वे या 8 वे महीने में करते है पर इसके पीछे का महत्व भी है जो आप यहाँ पर जानेगे .

  • सबसे पहले तो इस रस्म से होने वाले बच्चे और माँ के स्वास्थ्य के लिए पूजा और कामना की जाती है . ऐसी मान्यता है की इस पूजा से गर्भ के सारे दोष दूर हो जाते है .
  • इस समय गर्भवती स्त्री को मेवे और फल उपहार में दिए जाते है क्युकी गर्भावस्था में माँ को ज्यादा प्रोटीन की जरूरत होती है . मेवे और फल खाने से होने वाली माँ को nutrition मिलते है .

गोद भराई पर माँ के लिए कुछ टिप्स – tips for mother on baby shower

कोई भी महिला के लिए उनके गोद भराई (godh bharai in hindi) यानि की baby shower का समय बहुत ही खास होता है और महिला के आखरी महीनो में यह रसम होती है तो उनको कुछ बातो की सावधानिय भी जरुर रखनी चाहिए .

  • आराम करे

गर्भवती महिला अपनी गोद भराई की रस्म शुरू होने से पहले खूब आराम कर ले क्युकी बाद में उनको ज्यादा देर तक खड़ा रहना पद सकता है इस लिए उनको थकान ना हो .

  • खान-पान पर ध्यान दे

इस रसम में बहुर सारे guest आये होते है तो बहुत सी वानगीया बनी होती है ऐसे में होने वाली माँ को ज्यादा मीठा और चटपटा नहीं खाना है क्युकी इस से आपकी तबियत बिगड़ सकती है और ज्यादा मीठा खाने से आपकी suger भी बढ़ सकती है . इस लिए आप पौष्टिक आहार ले .

  • हमेशा हाइड्रेट रहे

Baby Shower की रसम में आपको क्या पहनना है वो पहले से ही तेय करले और ऐसे कपडे और गहने न पहने जो आपको comfortable ना हो .

  • आयोजन करे

अगर आप भी modern तरीके से अपनी गोद भराई रस्म का आयोजन करना चाहती है तो पहले कोई अच्छी सी theme choose करे और उसके अनुसार कपडे, डेकोरेशन और gifts तैयार करे .

  • मनोरंजन का आयोजन करे

आपनी यह रस्म में आप कोई अच्छे से गाने को select करके उनकी एक लिस्ट बनाइये ताकि उस वक्त सबका मनोरंजन हो सके . आप चाहे तो अपने हाथो में महंदी भी लगवा सकते है .

गोद भराई के लिए कुछ खास टिप्स

वैसे तो गोद भराई वाकई में खुशियां का कार्यक्रम होता है, जिसमें मां और होने वाले बच्चे को आशीर्वाद दिया जाता है. अगर आपने नीचे बताए गए टिप्स अपनाएं, तो इस समारोह में चार चांद लग जाएंगे :

गर्भवती के लिए तौफा : गोद भराई की रस्म में खास ध्यान गर्भवती स्त्री का रखा जाता है. इसलिए, आप चाहें तो गर्भवती के लिए स्पा या ब्यूटी पार्लर के कूपन का बंदोबस्त कर सकते हैं, ताकि गर्भवती को शारीरिक और मानसिक रूप से कुछ आराम मिले.

पॉटलक पार्टी : अगर गोद भराई में बहुत ज़्यादा खर्चा लग रहा है, तो आप पॉटलक पार्टी का आइडिया अपना सकते हैं. इसमें आने वाले मेहमानों को अपने-अपने घर से कुछ खाने का सामान लाना होगा. इससे यह समारोह और भी दिलचस्प बन जाएगा.

DIY Gifts बनाये : आये हुए मेहमानों को बाहर से महंगे गिफ्ट लाकर देने की जगह घर में अपने हाथों से बनाकर कुछ गिफ्ट दे सकते हैं. इसके अलावा decoration के लिए आप चार्ट पेपर और रिब्बन की मदद से decoration का सामान बनाकर अपनी theme और घर को सजा सकते हैं.

ओपन लोकेशन : आप चाहें तो गोद भराई की रसम बाहर खुली जगह में भी कर सकते हैं यह एक बहुत ही मजेदार लोकेशन हो सकता है.

गोद भराई के लिए मेकअप कैसे करे

गोद भराई की रसम में आपको अपने अनुकूल हो ऐसा मेकअप करना चाहिए मतलब की जिस भी तरह का मौसम है उसके हिसाब से मेकअप करना चाहिए , क्युकी ज्यादा मेकअप से आपको allergy भी हो सकती है .

आप जो भी कपडे और गहने पहने वो ज्यादा भारी न हो क्युकी वो आपको uncomforted कर सकते है .

आप Indian dress पहना रही है तो आप हलकी सी सारी पहन सकते है और उनके साथ गजरा और हल्का मेकअप कर सकते है . आजकल western long gown भी ज्यादा trend में है .

गोद भराई की रसम के लिए गानों की लिस्ट – Godh Bharai Ka Gana

  1. एक नए मेहमान के आने की खबर है, दिल में लहर है : फिल्म – ज़िंदगी
  2. तेरे सपनों का संसार संवरने वाला है, सुना है आसमान से चांद उतरने वाला है : टीवी सीरियल – ये रिश्ता क्या कहलाता है
  3. चंदा है तू, मेरा सूरज है तू, ओ मेरी आंखों का तारा है तू : फिल्म – आराधना
  4. वृन्दावन का कृष्ण कन्हैया सब की आंखों का तारा, मन ही मन क्यों जले राधिका,मोहन तो है सब का प्यारा, वृन्दावन का कृष्ण कन्हैया … : फिल्म – मिस मैरी
  5. सोलह शृंगार करके गोदी भराई ले : फिल्म – फिलहाल
  6. तेरी गोद अब खुशियों से भरने वाली है, तेरी सखी जल्दी ही बुआ बनने वाली है : टीवी सीरियल – ये रिश्ता क्या कहलाता है
  7. मेरी दुनिया तू ही रे, मेरी खुशियां तू ही रे : फिल्म – हे बेबी
  8. तूझे सूरज कहूं या चंदा, तूझे दीप कहूं या तारा : फिल्म – एक फूल दो माली

तो यह थी गोद भराई की रसम की सम्पूर्ण जानकारी इस आर्टिकल से आपको यह पता चल गया होगा की गोद भराई क्या है (baby shower meaning in hindi), गोद भराई कब और कैसे होती है (what is godh bharai in hindi) और गोद भराई की रसम का क्या महत्व होता है .

यह भी पढ़े :

प्रेगनेंसी से बचने के लिए 15 घरेलु उपाय | प्रेग्नेंट ना होने के उपाय

गर्भ में लड़के की हलचल से जानिए क्या है गर्भ में लड़का या लड़की

प्रेगनेंसी टेस्ट किट क्या है | जानिए प्रेगनेंसी टेस्ट किट को इस्तेमाल करने का सही तरीका

Advertisements

Leave a Comment