Advertisements

बच्चो में खून की कमी होने के कारण, लक्षण और खून बढ़ाने के उपाय

Advertisements

बच्चो में खून की कमी होने का कारण सही पोषकतत्व का भाव हो सकता है। खून की कमी से एनीमिया हो सकता है। 

बड़ो की तरह बच्चो में भी खून की कमी हो जाती है क्युकी बच्चे खाना तो ठीक से खा लेते है पर उसका पेट इतना छोटा होता है की उनको सही पोषण नहीं मिल पाता जिसकी वजह से कई बार बच्चो में एनीमिया की बीमारी हो जाती है। 

 

बच्चो में खून बढ़ाने के उपाय,बच्चो में खून की कमी, कारण, लक्षण और उपचार

 

Advertisements

बच्चे को सही पोषण नहीं मिलने से बच्चे कमजोर भी हो जाते है। तो अगर आपके बच्चे में भी खून की कमी यानि की एनीमिया की समस्या है तो आपको इस आर्टिकल में जानकारी मिल जाएगी की क्यों होती है बच्चो में खून की कमी उनके कारण, लक्षण और एनीमिया को दूर करके बच्चो में खून बढ़ाने के उपाय क्या क्या है। 

बच्चो की रोगप्रतिकारक शक्ति कमजोर होती है इस लिए वो जल्दी से बीमार होने लगते है। और बच्चो को सर्दी-जुखाम हो जाता है और कई बार तो सही समय पे इलाज नहीं करवाने से ये समस्या गंभीर रूप भी ले लेती है उनमे से ही एनीमिया भी एक बीमारी ही है जिसे घर पे आसानी से दूर किया जा सकता है। 

आपको इस आर्टिकल में सारी जानकारी मिल जाएगी की बच्चे में खून की कमी होने कारण और बच्चो में खून बढ़ाने के उपाय के बारे में। 

 

बच्चो में खून की कमी क्या है? – एनीमिया क्या है?

जैसे की मेने पहले बताया की बच्चो में खून की कमी मतलब की एनीमिया। यानि की बच्चो के शरीर में रेड ब्लड सेल्स (red blood cells) की कमी। हमारे शरीर में रेड ब्लड सेल्स शरीर के सभी टिश्यू तक ऑक्सीजन पहुंचाने का काम करते है। मानव शरीर में आयरन की कमी के कारण खून की कमी यानि की एनीमिया की बीमारी हो जाती है। 
 
 

बच्चो में खून की कमी होने के कारण – एनीमिया के कारण

बच्चो में एनीमिया (खून की कमी) होने के कई सारे कारण हो सकते है हर एक बच्चे में ये कारण अलग अलग हो सकता है। बच्चो में खून की कमी होने के कारण आपको निचे दिए गए है। 
 
1. बच्चो में पोषण के अभाव से 
2. आयरन (iron) की कमी के साथ बच्चे का जन्म से 
3. गाय के दूध पर निर्भर रहने से
4. शरीर में आयरन को अवशोषित करने की क्षमता की कमी से 
5. आंतो में खून का रिसाव होने से 
6. फोलेट की कमी से 
7. विटामिन B-12 की कमी से 
 
 

बच्चो में खून की कमी के लक्षण – एनीमिया के लक्षण 

बच्चो में निचे दिए गए कोई भी लक्षण दिखाई दे तो हो सकता है की बच्चे को एनीमिया की बीमारी हो। 
 
1. बच्चे की त्वचा पिली पड जाना
2. बच्चे को थकान महसूस होना 
3. बच्चे का चिड़चिड़ापन बढ़ जाना 
4. बच्चे का बहुत कम खाना खाना 
5. बच्चे को सिरदर्द होना 
6. चक्कर आना 
7. जीभ में जलन और ऐठन आना
8. नाखून फीके और कमजोर हो जाना 
 
 

बच्चो में खून की कमी का इलाज

बच्चो में अगर खून की कमी यानि की एनीमिया की समस्या है तो उनका इलाज भी है तो आइये जानते है की क्या है बच्चो में खून की कमी का इलाज। 
 
1. नवजात शिशु को डॉक्टर्स आयरन युक्त फार्मूला मिल्क देने की सलाह देते है। 
 
2. बच्चे को प्रति किलो 3 mg आयरन ड्रॉप्स देने की सलाह डॉक्टर्स देते है। 
 
3. बच्चे के डाइट में आयरन युक्त खोराक को शामिल करना चाहिए जिस से बच्चे के शरीर में खून का प्रमाण बढे। 
 
4. बच्चे के ठोस आहार के साथ साथ उनको आयरन युक्त बेबी फ़ूड देने की सलाह दी जाती है। 
 
5. बच्चे को आयरन युक्त फ़ूड सप्लीमेंट भी दे जा सकते है। 
 
6. अगर सप्लीमेंट के बाद भी अगर शरीर लाल रक्त कोशिका का निर्माण नहीं कर पता तो खून को बदलने की भी जरुरत पड सकती है। हलाकि ये जरुरत बच्चो में कम होती है।     
 
इसके अलावा भी बच्चो में खून बढ़ाने के घरेलु उपाय भी है जो आपको निचे दिए गए है। 
 
 

बच्चो में खून बढ़ाने के घरेलु उपाय  

जैसे की आपने ऊपर पढ़ा की अगर बच्चा दूध पिता है तो उनको आयरनयुक्त फार्मूला मिल्क (bottle feed) दिया जा सकता है और अगर बच्चा BLW (ठोस आहार) ले रहा है तो उनको आयरन युक्त फ़ूड दिया जा सकता है जैसे की,


चुकंदर 

बच्चो में खून बढ़ाने के उपाय

 

चुकंदर यानि की बीट को आपके बच्चे के डाइट में शामिल करिये क्युकी चुकंदर में फोलिक एसिड पाया जाता है जो बच्चे के शरीर में लाल रक्त कोशिकाओं के निर्माण में मदद करता है और बच्चे के शरीर में खून की कमी को दूर करके एनीमिया से बचाता है। आप बच्चे को चुकंदर का जूस भी पीला सकते हो। 
 

सेब 

बच्चो में खून बढ़ाने के उपाय

 

सेब में भरपूर मात्रा में आयरन पाया जाता है जो शरीर में  को दूर करता है। इस लिए आपके बच्चे के डाइट में हररोज 1 सेब को जरूर शामिल करिये। आप चाहे तो सेब का जूस (apple puree) भी पीला सकते हो। बच्चे हो या बड़े हो सब को हररोज 1 सेब खाने से कई सारी बिमारीओ दूर हो सकती है। 
 

पालक

बच्चो में खून की कमी और  बच्चो में खून बढ़ाने के उपाय

 

पालक भी आयरन का अच्छा स्त्रोत माना जाता है। इस लिए हररोज अपने और बच्चे की डाइट में पालक को शामिल जरूर करिये। आप बच्चो को पालक उबाल के उनका सुप बनाके भी पीला सकते हो या पाकल का जूस भी पीला सकते हो।

अनार 

बच्चो में खून की कमी

 

अनार में आयरन, कैल्शियम, प्रोटीन, फैट, कार्बोहायड्रेट पाया जाता है। जो बच्चे को हेल्दी बनाने के लिए जरुरी है। अनार में आयरन मिलता है जो बच्चे को एनीमिया के खतरे से बचाता है और अनार खून की मात्रा को भी बढ़ता है। 
 

टमाटर 

बच्चो में खून बढ़ाने के उपाय

 

टमाटर में विटामिन C पाया जाता है जो हमारे शरीर को खाने में से मिलने वाले आयरन को अवशोषित करने में मददरूप रहता है। इस लिए अपने बच्चे को हररोज 1 से 2 टमाटर अवश्य खिलाइए या फिर बच्चे को टमाटर का सुप या सलाद भी दे सकते हो। 
 

किशमिश 

बच्चो में खून की कमी,बच्चो में खून बढ़ाने के उपाय

 

किशमिश में कैल्शियम, पोटैशियम, सोडियम, प्रोटीन, फाइबर और आयरन होता है। इस लिए बच्चे को हररोज किशमिश अवश्य खिलाइये। आप बच्चे की मनपसंद डिश में किशमिश डाल कर खिला सकते हो। 
 

तिल 

बच्चो में खून की कमी,बच्चो में खून बढ़ाने के उपाय

 

तिल भी आयरन का अच्छा स्त्रोत है। खास करके काले तिल में आयरन ज्यादा पाया जाता हैं। बच्चो को तिल खिलाने के लिए तिल को पानी में 2 घंटे के लिए भिगोके पानी निकाल के तिल को पीस के उसमे गुड़, और डॉयफ्रुइट्स मिलाके खिला सकते हो। 
 
ये सारे फूड्स में आयरन ज्यादा मात्रा में मिलता है तो अगर आप अपने बच्चे में खून बढ़ाना चाहते हो तो सारे बच्चो में खून बढ़ाने के उपाय को आजमा सकते हो। 
 
तो ये थी सारी जानकारी बच्चो में खून की कमी के कारण, लक्षण, बच्चो में एनीमिया की बीमारी और बच्चो में खून बढ़ाने के उपाय के बारे में। उम्मीद है की आपको ये आर्टिकल से सही जानकारी मिली होगी। 
 
ये भी पढ़े :
 
 
 
 
 

Advertisements

Leave a Comment