Advertisements

जानिए अपने शिशु को गाय का दूध किस उम्र से और कैसे पिलाये

Advertisements

गाय को हमारी भारतीय संस्कृति में माता माना जाता है। क्योंकि गाय में देवताओं का वास है। इसी तरह गाय के दूध में भी बहुत सारे पौष्टिक तत्व है। जो हमें कई सारी बीमारियों से बचाता है। इसका सेवन करना बहुत ही लाभदायक रहता है। लेकिन अगर बात करें बच्चों की तो शिशु को गाय का दूध पिलाने से पहले उसकी उम्र को भी ध्यान में रखना चाहिए। क्योंकि नवजात शिशु को गाय का दूध देने से पहले कुछ बातों का ध्यान रखना होता है। अगर आप भी अपने शिशु को गाय का दूध पिलाना चाहते हो तो सबसे पहले ही साले के शिशु को गाय का दूध किस उम्र से दें और शिशु को गाय का दूध कैसे पिलाये? और बच्चे को कितना दूध पिलाना चाहिए (नवजात शिशु को दिन में कितनी बार दूध पिलाना चाहिए)


बच्चे को गाय का दूध कैसे पिलाना चाहिए


Advertisements

अक्सर हम बच्चों को हेल्दी रखने के लिए दूध पिलाते हैं। और कई माँ ये अपने नवजात शिशु का आहार बनाने के लिए गाय का दूध का इस्तेमाल करती है या गाय का दूध पिलाती है पर नवजात शिशु को गाय का दूध देने से पहले यह जानना आवश्यक है गाय का दूध नवजात शिशु के लिए सलामत है या नहीं? ( यह पढ़े – नवजात शिशु को दूध कैसे पिलाना चाहिए )

तो हम इस लेख में जानेंगे कि बच्चे को गाय का दूध किस उम्र में देना चाहिए और बच्चे को गाय का दूध कैसे पिलाएं और बच्चों के लिए गाय के दूध के नुकसान और फायदे क्या क्या है। और बच्चे को ऊपर का दूध कैसे पिलाना चाहिए


    शिशु को किस उम्र से दे गाय का दूध

    जब तक आपका बच्चा 1 साल का यानि की 12 महीने का ना हो जाये तब तक आपको बच्चे को गाय का दूध नहीं पिलाना चाहिए। क्युकी पीडियाट्रिक (pediatric) के अनुसार बच्चे गाय का दूध आसानी से पचा नहीं सकते क्युकी बच्चे की पाचनशक्ति धीरे धीरे विकसित होती है। उसके लिए स्तनपान (ब्रेस्टमिल्क) या फार्मूला मिल्क पचाना आसान होता है। गाय के दूध में प्रोटीन, और फैट ज्यादा मात्रा में होते है जिस से बच्चे के आंतो और किडनी पे जोर पड सकता है। पर बच्चा जैसे जैसे बड़ा होता जाता है वैसे वैसे उनका पेट और किडनी के साथ बाकि ऑर्गेन भी मजबूत होते जाते है। इस लिए आपने शिशु को 1 साल का होने के बाद ही गाय का दूध पिलाये। 


    बच्चे को गाय का दूध कैसे पिलाये


    बच्चे को गाय का दूध कैसे पिलाये

    बच्चे अपने जन्म से ही स्तनपान और फार्मूला मिल्क पी रहे होते है। ऐसे में उनको गाय के दूध का स्वाद थोड़ा अलग लग सकता है। तो जब आप बच्चे को ऊपर का दूध यानि की गाय का दूध पिलाने का शुरू करे तो निचे दिए गए पॉइंट्स का ख्याल जरूर रखे। 

    1. शुरुआत में बच्चे को दिन में सिर्फ एक बार ही गाय का दूध पिलाये वो भी कम मात्रा में। 

    2. आप बच्चे को गाय का दूध पिलाने के साथ साथ ब्रेस्टमिल्क या फार्मूला मिल्क अवश्य दे और धीरे धीरे देना कम करे। 

    3. फिर धीरे धीरे कुछ दिनों के बाद बच्चे को गाय का दूध दिन में 2-3 बार दे। 

    4. आप बच्चे को गाय का दूध पिलाने के लिए कलरफुल बाउल या कप का इस्तेमाल करे। 

    5. अगर आपके बच्चे को डॉयफ्रुइट्स पसंद है तो आप उसमे डॉयफ्रुइट्स (dryfruits) डाल के भी पीला सकते है। पर हररोज आपको डॉयफ्रुइट्स वाला दूध नहीं देना है बल्कि प्लेन दूध भी पिलाये। 

    अगर आप इन तरीको को follow करते है तो आपका बच्चा अवश्य गाय का दूध पिने लगेगा। 

    बच्चे को हररोज कितना गाय का दूध पिलाये


    बच्चे को हररोज कितना गाय का दूध पिलाये

    गाय का दूध 1 साल से बड़े बच्चों के लिए बहुत ही गुणकारी है। पर आपको बच्चे को हररोज कितना गाय का दूध पिलाना है यह बच्चे की उम्र पर अधार रखता है।

    1. 1 साल से 2 साल के बच्चो को आप दिन में 1 कप (200-250 ml) तक पीला सकते हो। 

    2. 2 साल से बड़े बच्चो को आप दिन में 2 कप (400 ml) जितना दूध पीला सकते हो।     

    3. आप 5 साल से बड़े बच्चो को 500 ml तक गाय का दूध पीला सकते। हो। 


    बच्चो के लिए गाय के दूध के फायदे

    1. मासपेशिओ का विकास

    गाय के दूध (Cow Milk) में प्रोटीन भरपूर होता है जिस से बच्चे के शरीर की मासपेशिया (muscles) मजबूत होती है।

    2. हड्डियो में मजबूती

    गाय के दूध में पर्याप्त मात्रा में कैल्शियम और विटामीन-D होता है बच्चे की हड्डियों के विकास के लिए बहुत ही जरूरी होते है। ये दोनों ही विटामिन बच्चो की हड्डयो को मजबूत बनाते है। 

    3. बच्चे के दिमाग का विकास

     गाय के दूध में मौजूद फैट बच्चे के दिमाग के विकास (मस्तिष्क के विकास) के लिए बहुत ही उपयोगी होता है।

    4. संपूर्ण विकास में मददरूप

    छोटे बच्चों के लिए गाय का दूध बहुत ही फायदेमंद है क्युकी गाय के दूध में फेट कम होता है जो बच्चों को आसानी से पच जाता है।गाय का दूध पीने से स्मरण शक्ति बढ़ती है । गाय के दूध में आयरन की भरपूर मात्रा होती है।इसको पीने से बच्चो में एनीमिया का खतरा नही होता। इसके इलावा इसमें कैल्शियम, प्रोटीन, मैग्नीशियम,विटामिन बी 12,विटामिन ,बी 2, होता है। इससे बच्चों की गैस भी नही होती।

    5. ऊर्जा का भंडार

    गाय के दूध में लेक्टोस की मात्रा ज्यादा होती है। और लेक्टोस दूध में कार्बोहाइड्रेट की मात्रा ज्यादा होती है। जिससे बच्चे को सही मात्रा में ऊर्जा (कैलोरी) मिलती है जिस से बच्चे का शारीरिक और मानसिक विकास अच्छे से होता है।

    बच्चो के लिए गाय के दूध के नुकसान

    हर चीज के फायदों के साथ-साथ उसके कुछ नुकसान भी होते हैं इसी तरह बच्चों के लिए गाय के दूध के नुकसान भी कुछ इस तरह है।

    गाय के दूध में मौजूद लेक्टोस से बच्चों को एलर्जी होने का खतरा है हालांकि एलर्जी सभी बच्चों में नहीं होती।और एलर्जी की वजह से बच्चों को नीचे दी गई समस्या हो सकती है।


    इसके के अलावा गाय के दूध में बैक्टीरिया पाए जाते हैं जो बच्चों की पेट को खराब कर सकते हैं। इसलिए आपको हमेशा बच्चे को गाय का दूध उबाल के ही पिलाना चाहिए तो कभी भी कच्चा दूध मत पिलाये।

    तो ये थी जानकारी की अपने बच्चे को गाय का दूध कैसे पिलाना चाहिए, बच्चे को गाय का दूध किस उम्र से पिलाना चाहिए और क्या है बच्चे के लिए गाय के दूध के फायदे और नुकसान के बारे में। 

    उम्मीद है की आपको ये जानकारी से कुछ मददरूप माहिती मिलि होगी की अपने शिशु को गाय का दूध किस उम्र में और कैसे पिलाये। 

    Happy Parenting .

    यह भी पढ़े :





    Advertisements

    Leave a Comment