Copper t | कॉपर टी लगवाने के बाद कितने दिन ब्लीडिंग होती है

Copper t – अगर आप भी जानना चाहते हो की कॉपर टी लगवाने के बाद कितने दिन ब्लीडिंग होती है तो इस आर्टिकल को पूरा पढ़िए।

Copper t बहुत सी महिलाओं को सूट नहीं होती। इसके बाद उन्हें ब्लीडिंग होने लगती है। infection के chances ज्यादा बढ़ जाते हैं। डिस्चार्ज ज्यादा होने लगता है। पेल्विस के अंदर में इनफेक्शन होता है तो कॉपर टी निकालनी पड़ती है। अगर पूरी सावधानी से कॉपर टी लगाएं तो कोई नुकसान नहीं होता। ऐसा माना जाता है कि कॉपर टी 99 % सफल होती है।

Copper t क्या है | कॉपर टी लगवाने के बाद कितने दिन ब्लीडिंग होती है
Table Of Contents hide

कॉपर टी क्या है – what is copper t?

अगर आप भी जानना चाहते हो की कॉपर टी क्या है तो आपको बता दे की कॉपर टी एक गर्भनिरोधक साधन है जिसका उपयोग महिला के लिए किया जाता है। इस महिला की शादी हो गए हो और बच्चे की मां हो उसके लिए कॉपर टी का इस्तेमाल ज्यादा होता है। क्योंकि कॉपर टी  का इस्तेमाल करके अनचाहे गर्भ को रोक सकते हैं।

कॉपर टी एक छोटा सा उपकरण होता है जो तांबा (copper) और प्लास्टिक (plastic) से बना होता है। जिसको महिला के गर्भाशय में लगाया जाता है जिससे महिला अनचाहे गर्भ को रोक सकती है और महिला जब भी चाहे तब उस कॉपर टी को निकाल के गर्भधारण कर सकती है।

कॉपर टी कैसे काम करती है – How does copper t work?

टी के आकार में बने इस उपकरण के चारों ओर लिपटा कॉपर गर्भाशय को प्रभावित करता है और जिससे आप गर्भधारण नहीं कर पाती हैं। इस उपकरण का कॉपर गर्भाशय ग्रीवा और गर्भाशय के अन्य तरल के साथ मिलकर उसमें कॉपर यानि तांबे की मात्रा को बढ़ा देता है।

कॉपर की अधिक मात्रा के कारण यह द्रव शुक्राणुनाशक के रूप में काम करता है। जिससे गर्भाशय में पहुंचने वाले शुक्राणु इसके संपर्क में आने के बाद नष्ट हो जाते हैं। शुक्राणुओं के नष्ट होने से महिलाओं में ओवुलेशन के वक्त बनने वाला अंडा निषेचित नहीं हो पाता है और इससे महिला pregnant नहीं हो पाती है।

यह पांच वर्षों के लिए गर्भनिरोध संबंधी सुरक्षा प्रदान करती है। ये उपकरण आकार में बहुत छोटे होते हैं और प्लास्टिक के बने, कॉपर (तांबा) में लिपटे अंग्रेजी के T अक्षर के आकार में आते हैं। भारत में आईयूडी (IUD), कॉपर-टी के नाम से बाजार में बिकती है।

कॉपर टी डलवाने के बाद प्लास्टिक आसपास तांबे के आयन निकालने लग जाती है। यह तांबे के आयन गर्भाशय से निकलने वाले तरल पदार्थ के साथ मिल जाते हैं। इस तरह महिलाएं गर्भवती होने से बची रहती हैं।

जाने कॉपर टी निकालने का आसान तरीका | copper t

कॉपर टी लगवाने के बाद कितने दिन ब्लीडिंग होती है

कॉपर टी महिलाओं में प्रेगनेंसी कंसीव ना करने के उपाय में ज्यादातर उपयोग की जाने वाला साधन है। 10 में से 8 महिलाएं अनचाहे गर्भ को रोकने के लिए कॉपर टी लगवाती है। पर हर महिला को कॉपर टी क्या है उनके बारे में ज्यादा जानकारी नहीं होती।

copper t को लेकर महिलाओं के मन में कई सारे सवाल उठते हैं जैसे की कॉपर टी लगवाने के बाद क्या होता है, कॉपर टी टाइम पीरियड कब होगा, कॉपर टी लगवाने के बाद प्रेगनेंसी रहेगी क्या, कॉपर टी लगवाने में दर्द होता है?, कॉपर टी निकलवाने के बाद कितने दिन ब्लीडिंग होती है?,

कॉपर टी लगवाने के बाद काफी सारी महिलाओं को बार-बार खून आने की समस्या का सामना करना पड़ता है और काफी महिलाओं को मासिक धर्म (periods) के दौरान पेडू के निचले हिस्से में दर्द होता है जो की यह समस्या समय रहते ठीक हो जाती है

कॉपर टी लगवाने के बाद कुछ दिनों तक हलकी सी bleeding होती है हलाकि सभी महिलाओ में ये नहीं होता है। कॉपर-टी लगवाने के बाद यह शरीर में महसूस नहीं होती है, लेकिन इसे लगवाने के बाद कुछ महिलाओं को पीरियड्स (periods) के दौरान मरोड़ और अधिक ब्लीडिंग हो सकती है. ऐसे में आईबूप्रोफेन दवा लेने पर आराम मिल सकता है. जिन महिलाओं को Copper t लगवाने के बाद मासिक धर्म के दौरान बहुत अधिक मरोड़ हो रही हो, उन्हें गर्म पानी की थैली से सिकाई करनी चाहिए।

कॉपर टी निकालने के बाद ब्लीडिंग क्यों होती है

वैसे तो Copper t निकालने के बाद किसी भी तरह की ब्लीडिंग नहीं होती है। लेकिन कुछ महिलाओ में कॉपर टी निकालने के बाद हलकी सी ब्लीडिंग होती है। वैसे कॉपर टी निकालने के बाद हलकी ब्लीडिंग होना सामान्य बात है। इस लिए इसमें ज्यादा tension लेने की कोई जरुरत नहीं है।

कॉपर टी निकालने के बाद भी आपको ब्लीडिंग शुरू ही रहती है तो यह योनि (vagina) में संक्रमण की वजह से भी मानी जाती है। अगर आपको संक्रमण की वजह से ब्लीडिंग हो रही है तो आप डॉक्टर से दवाई ले सकती है।

अगर कोई महिला घर पर ही copper t को निकालने की try करती है तो उस वजह से भी ब्लडिंग हो सकती है। इस लिए अगर ऐसा हो तो आपको कभी भी खुद से कॉपर टी को नहीं निकालना है और डॉक्टर के पास जाना चाहिए।

कॉपर टी लगाने के बाद क्या होता है

कॉपर टी लगवाने के बाद आपको कुछ इस तरह के लक्षण दिखाई दे सकते है।

  • कुछ दिनों तक पेडू में दर्द
  • कुछ दिनों तक हलकी सी ब्लीडिंग
  • बहुत सी महिलाओ में कमर दर्द
  • बहुत सी महिलाओ में ऐंठन
  • अगर कॉपर टी सूट नहीं होती है तो यौन संक्रमण
  • मूड स्विंग (mood swing)
  • सफ़ेद पानी (white discharge)

कॉपर टी (Copper t) लगाने के बाद रखें ध्यान

  • कुछ दिनों तक पेट में हल्का दर्द या ब्लीडिंग होना सामान्य है। यह किसी बीमारी का लक्षण नहीं है। थोड़े दिनों में यह ठीक हो जाता है। अगर समस्या अधिक हो, तो तुरंत डॉक्टर से consult करे। महिलाएं copper t का धागा अपने गुप्तांग में महसूस कर सकती है। इसे हर पिरियड के बाद चेक करना चाहिए, ताकि पता चल सके कि कॉपर टी अपनी सही जगह पर है या नहीं । यदि धागा न मिले तो डॉक्टर से जाँच करवाए।
  • कॉपर टी लगवाने के बाद जब पहला period आता है उसके बाद आप self examination करके कॉपर टी के धागे को check करे की वह सही जगह पर है की नहीं क्युकी कॉपर टी लगवाने के बाद पीरियड आने पर इसकी निकने की संभावना ज्यादा होती है।
  • कॉपर टी लगवाने के बाद प्रेगनेंसी हो सकती है। अगर कॉपर टी लगाने के बाद पिरियड मिस हो जाए तो यह न समझें कि आपने कॉपर टी लगाई है तो आप प्रेग्नेंट नहीं हो सकते, आप pregnant हो सकते हैं। इसलिए ऐसी समस्या आने पर डॉक्टर को जरूर दिखाएं।

कॉपर टी लगाने के फायदे

अगर कॉपर टी लगाने के फायदे की बात करें तो नीचे दिए गए कॉपर टी लगाने से फायदे आपको  मिल सकते है।

1. कॉपर टी लगाने के बाद आप अनचाहे गर्भधारण से बच सकते है जिस से आपकी प्रेगनेंसी नहीं होती यह इसका सबसे बड़ा फायदा यह है। 

2. कॉपर टी में किसी भी प्रकार का हॉर्मोन मौजूद नहीं होता है और यह किसी भी प्रकार की दवा के साथ प्रतिक्रिया नहीं देती है। 

3. कॉपर टी लगवाने के बाद अगर कोई महिला गर्भधारण करना चाहती है तो इसको आसानी से निकाला जा सकता है और दोबारा गर्भधारण किया जा सकता है। 

4. कॉपर टी लगवाने के बाद महिला को अनचाहा गर्भधारण होने के तनाव से मुक्ति मिलती है। 

5. कॉपर टी गर्भनिरोधक साधनों में सबसे सस्ता और लंबे समय तक चलने वाला साधन है जिसको आप कम से कम 5-8 साल तक बिना खर्च किये उपयोग कर सकते हो। 

6. कॉपर टी सभी गर्भनिरोधक साधनो में से सबसे ज्यादा इस्तमाल किया जाने वाला साधन है।

कॉपर टी लगाने के नुकसान

कॉपर टी लगवाने के फायदों के साथ साथ कुछ उसके नुकसान भी होते है जो कुछ इस तरह के है।

1. रक्तस्त्राव होना

कॉपर टी लगवाने के बाद काफी सारी महिलाओं को बार-बार खून आने की समस्या का सामना करना पड़ता है और काफी महिलाओं को मासिक धर्म के दौरान पेडू के निचले हिस्से में दर्द होता है जो की यह समस्या समय रहते ठीक हो जाती है।

2. कॉपर टी का अपनेआप बहार आ जाना

कई महिलाओं में कॉपर टी लगवाने के बाद अपने आप बाहर निकल जाती है। ऐसा भाग्य से ही किसी महिला को होता है जो महिलाएं बच्चे को जन्म देने के बाद तुरंत ही कॉपर टी लगवा दी है या फिर जिस महिला ने कभी प्रेगनेंसी कंसीव ना की हो उस महिला में ज्यादातर यह समस्या होती है। 

3. संक्रमण होना

कॉपर टी लगवाने से कई सारी महिलाओं को इंफेक्शन हो जाता है जिससे उसको रेसिस हो जाते हैं या योनि के अंदर के हिस्से में खुजली होने लगती है। तब उसके पास कॉपर टी निकलवाने के अलावा और कोई रास्ता नहीं होता है और उसको कोई और गर्भनिरोधक साधन को चुनना पड़ता है।

4. गर्भाशय में समस्या होना

कई महिलाओ को कॉपर टी लगाने के बाद गर्भाशय में कभी-कभी चोट लग जाती है जिसके कारण उसको को तुरंत ही कॉपर टी को निकाल देना चाहिए क्योंकि गर्भाशय में चोट लगने की वजह से आपको काफी समस्या आ सकती है।

5. यौनसंक्रमण का खतरा

कॉपर टी लगाने के बाद महिलाओं में यौन संक्रमण का खतरा बढ़ जाता है इसलिए महिला को कॉपर टी लगवाने के बाद यौन संक्रमण से बचने का उपाय ढूँढना पड़ता है। 

कॉपर टी कब लगवानी चाहिए?

महिला के मासिक धर्म (period) के बाद 5 से 7 दिन के बीच copper t लगाई जाती है। कॉपर-टी की सफलता दर 98% है। यह डिवाइस इंटरनल पार्ट (internal part) के काफी अंदर तक लगाई जाती है, जिससे शारीरिक संबंध बनाते समय यह आपको बाधारूप नहीं होती है।

कॉपर-टी सूट न होने पर क्या होता है?

कॉपर-टी सूट न होने पर ब्लीडिंग शुरू हो जाती है और पेल्विक एरिया में सूजन आ जाती है। इस केस में आपको कॉपर टी को हटाने की सलाह दी जाती है।

कॉपर टी कोन लगवा सकता है?

जो भी महिलाये शादी के बाद लंबे समय तक गर्भधारण करना नहीं चाहती है और दो बच्चो के बिच में अंतर रखना चाहती है वो महिलाये कॉपर टी को लगा सकती है.

कॉपर टी कोन नहीं लगवा सकता?

  • जिन महिला की हाल ही में डिलीवरी हुई हो वो
  • अबोशन के तुरंत बाद
  • पीरियड्स के बाद भी ब्लीडिंग की समस्या हो
  • गर्भाशय या सर्विक्स का कैंसर हो
  • यौन संक्रमण का खतरा हो

बहुत सी महिलाओ को copper t सूट नहीं होती है इस लिए महिलाओ को पीरियड के बाद भी लगातार ब्लीडिंग की समस्या रहती है.

तो यह थी जानकरी की आखिर महिलाओ को कॉपर टी लगवाने के कितने दिन ब्लीडिंग होती है और कॉपर टी लगवाने के बाद पीरियड के बारे में। उम्मीद है की आपको इस लेख से सही जानकारी मिली होगी।

FAQs :

कॉपर टी लगाने के कितने दिन बाद ब्लीडिंग होती है?

कॉपर टी लगवाने के बाद कुछ दिनों तक हलकी सी bleeding होती है हलाकि सभी महिलाओ में ये नहीं होता है। कॉपर-टी लगवाने के बाद यह शरीर में महसूस नहीं होती है .

कॉपर टी लगवाने के बाद क्या क्या सावधानी बरतनी चाहिए?

कॉपर टी लगवाने के बाद जब पहला period आता है उसके बाद आप self examination करके कॉपर टी के धागे को check करे की वह सही जगह पर है की नहीं क्युकी कॉपर टी लगवाने के बाद पीरियड आने पर इसकी निकने की संभावना ज्यादा होती है।

कॉपर टी निकालने के बाद ब्लीडिंग होती है क्या?

वैसे तो Copper t निकालने के बाद किसी भी तरह की ब्लीडिंग नहीं होती है। लेकिन कुछ महिलाओ में कॉपर टी निकालने के बाद हलकी सी ब्लीडिंग होती है। वैसे कॉपर टी निकालने के बाद हलकी ब्लीडिंग होना सामान्य बात है। इस लिए इसमें ज्यादा tension लेने की कोई जरुरत नहीं है।

कॉपर टी का साइड इफेक्ट क्या है?

1. रक्तस्त्राव होना
2. कॉपर टी का अपनेआप बहार आ जाना
3. संक्रमण होना
4. गर्भाशय में समस्या होना
5. यौनसंक्रमण का खतरा

यह भी पढ़े

प्रेगनेंसी टेस्ट| पीरियड मिस होने के कितने दिन बाद प्रेगनेंसी टेस्ट करे

V Wash use in Hindi – वी वॉश कब और कैसे इस्तमाल करे

आप अपने लिए v wash intimate wash खरीदना चाहती है तो यहाँ से ख़रीदे।

2 thoughts on “Copper t | कॉपर टी लगवाने के बाद कितने दिन ब्लीडिंग होती है”

Leave a Comment

Ads Blocker Image Powered by Code Help Pro

Ads Blocker Detected!!!

We have detected that you are using extensions to block ads. Please support us by disabling these ads blocker.